मजे – लूट लो जितने मिले  भाग 6

दूसरा  अध्याय  खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला  मैं अपनी दो बीवियों के साथ सुहागरात मना रहा हूँ. छोटी बीवी पहली चुदाई में होने वाले दर्द से डर रही है तो मैंने उसे कहा कि वो अपनी बड़ी बहन की चुदाई होती देखे-  अगले  दिन अपनी दोनों  कमसिन दुल्हनों के साथ हैदराबाद की … Read more

मेरे अंतरंग हमसफ़र भाग 8

द्वितीय अध्याय  परिवार से मेलजोल मेरे दोनों फूफेरे भाई मुझ से नाराज थे की मैं रूबी, टीना और मोना को साथ क्यों नहीं लायाl यह कहते हुए की तुम केवल अपनी प्रेमिका ही क्यों लाये? हमारा तुमने कोई ख्याल नहीं रखा उन दोनों ने रास्ते में मुझ से ज्यादा बात नहीं कीl जब हम शहर … Read more

मेरे अंतरंग हमसफ़र भाग 7

प्रथम अध्याय साथियो की अदला बदली.  बेशक टीना की चुदाई करके मुझे बहुत मजा आयाl और टीना भी अपने पहले सेक्स अनुभव से बहुत खुश थी l उसे दर्द हो रहा था पर ये दर्द उसने पूरी हिम्मत के साथ सहा थाl मेरे लंड पर उसके कुंवारे पण का सबूत उसका लहू, उसके जलाशयों का … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 16

दोनों कजिन्स चुदासी हुई  सेक्स… एक ऐसा शब्द जिसको नवजात शिशुओं को छोड़कर हर कोई जानता है। दैनिक आधार पर हम प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कितनी ही घटनाये देखते हैं और देख सकते हैं जिनसे हम आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि कैसे लोग सेक्स के लिए मानसिक रूप से निराश हैं। चाहे … Read more

मेरे अंतरंग हमसफ़र भाग 6

प्रथम अध्याय टीना के साथ सेक्स रोजी मुस्कराते हुए बोली वैसे टीना तो यहाँ दीपक से ही चुदने आयी है, फिर भी हम सब जो फैसला करेंगे उसे मंजूर होगाl” तो रूबी बोली ठीक है फिर जैसा टीना चाहती है उसका सबसे पहला मिलन कुमार दीपक के ही साथ होगा l जिस पर सबने सहमति जताई … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले  भाग 5

दूसरा  अध्याय  खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला  मैं भी रात भर का जगा हुआ था और नींद मुझे भी आ रही थी तो मैंने सोचा थोड़ा आराम कर लेते हैं मैं सारा  को अपनी बांहों में भरकर लेट गया। फिर मुझे नींद आने लगी। सुबह लगभग 3-4 बजे मैं जाग गया आँख … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग -15

छोटी बेगम की सुहागरात की सुबह  जूनि के खूबसूरत चेहरे पर उसके खुले हुए बालों की लटे पड़ी हुई थी और उस के रस भरे होंठ और स्तन मेरे थूक से चमक रहे थे। बिस्तर पर बिछे फूल बुरी तरह से मसले जा चुके थे और पैरो के पास पायल टूट कर गिरी हुई थी। बालो का … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले भाग-4

खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला फिर हम फ्रेश होने चले गए.< बाथरूम में जाकर मैंने मिरर में देखा कि मेरे सीने पे उसके नाखूनों के और उसके पूरे जिस्म पे मेरे दांतों के निशान बने थे. मैंने सारा से पूछा कि क्या वह अब भी इमरान के पास जाना चाहती है? उसने … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 14

छोटी बेगम की सुहागरात की सुबह  सुबह सुबह  ज़ीनत  बोली  आप  तो  एक्सपर्ट  हो  गए  हमारे  साथ  तो  वहशीपना  दिखाया  था  अब  मेरी  भी  ऐसी  ही  चुदाई  करना। मेरे साथ आपको क्या हो गया था ? मैंने कहा  आपा आप सबसे सुन्दर ,गोरी और मेरे से   बड़ी होने के बावजूद मस्त माल हो।आपको देखकर    … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले भाग 3

दूसरा अध्याय खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला ख़ैर फिर मैं फ़ारिग हुआ। हमने एक और लम्बी जफी लगाई और फिर चुम्बन किया, जिसके बाद हम सफ़ाई कने के लिए चल दिए। दर्पण में मेरे सीने पर उसके नाखूनों के और उसके पूरे जिस्म पर मेरे दांतों के निशान साफ़ दिख रहे थे। … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले दूसरा  अध्याय  भाग-2

खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला  मैंने कहा- जल्द ही यह काम भी कर दूंगा, ये तो क़िस्मत की बात होती है, तुम्हारी शादी हो गयी … फिर भी तुम कुंवारी रही और मेरी सुहागरात तुम्हारे साथ मन रही है. कसम से तुम्हारे साथ बहुत मजा आ रहा है. शायद किस्मत हमें मिलाना … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 13 

छोटी बेगम की सुहागरात  जूनि नाज़ुक इतनी थी की मेरे किश करने से जहा मैंने ज्यादा होंठ के दवाब डाला था वहाँ की गोरी स्किन गुलाबी हो गयी थी गज़ब का सेक्सी मौहाल था और में बड़े प्यार से उसके कमसिन चिकने गोरे जिस्म को अपनी बांहो में भर कर अपनी मर्ज़ी आये वही चूमने … Read more

दिल्ली में बादशाह-सुलतान-रफीक के बीच  युद्ध -02

 सुंदरियों का परिचय  सुल्ताना का विनम्र,   मिलनसार, व्यवहार उसकी सहेलियों  के बिल्कुल विपरीत था। उसकी सहेलियों  ज्यादातर दिखावटी थी, अपनी शानदार -जांघों और अच्छी तरह से आकार की टांगो  को दिखाने के लिए तंग सलवार  और अपने स्तनों को दिखाने के लिए तंग और कसी हुई  कमीज और चोली पहनती थी । सबसे पहले  गुलनाज़  … Read more

दिल्ली में बादशाह सुलतान -रफीक के बीच युद्ध-01

दिल्ली में बादशाह  सुलतान और रफीक के बीच युद्ध-01 यह एक कामुक कहानी है जिसमें व्यक्तियों, विभिन्न जातियों और वस्तुओं के बीच सभी प्रकार के यौन कृत्यों को शामिल किया गया है। सभी पात्र, व्यक्ति और घटनाएँ काल्पनिक हैं। जीवित रहने वाली या मृत किसी भी इकाई से कोई समानता विशुद्ध रूप से संयोग और अनजाने में … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 12 

छोटी बेगम की सुहागरात  फिर मैं जूनी के ओंठ चूसते-चूसते उसके बूब्स दबाने लगा जैसे-जैसे मैं उसके होंठों को चूसता रहा, उसे मज़ा आने लगा। उसकी चूचियाँ चकित कर देने वाली थी।  सन्तरे के आकार की चूचियाँ और उसकी निप्पलों को नज़र ना लगे, बिल्कुल मटर के दाने से भी छोटे। मैंने उनको ख़ूब दबाया। … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले दूसरा अध्याय – भाग 1 – Hindi Sex Story 

खाला की चुदाई के बाद आपा का हलाला   अब तक आपने  जन्नत – खड़ा लंड और 72 हूरे- खाला को चोदा भाग 1-3 में पढ़ा कि नूरी खाला को जबरदस्त चुदाई का मजा देने के बाद दूसरे दिन मेरा निकाह हलाला की बंदिश में बंधी मेरी आपा सारा से होना था और उसके साथ मुझे शौहर के … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 11

छोटी बेगम की सुहागरात  मेरी बीबी होने के बाबजूद मैंने अभी तक जूनी को चोदने की नज़र से नहीं देखा था क्योंकि मुझे वह बहुत छोटी लगती थी। उस रात उसकी बातों से मैं मस्त हो उठा और मैंने फैसला कर लिया की कल इसकी सुहागरात होगी। और जब सुबह मैंने ज़ीनत आपा को बताया … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 10

चुदाई किसको कहते है  मैने सिर्फ़ उसकी पेंटी  निकाली तो वो पीछे होने  लगी. मैने फिर उसे अपनी बाहो मे जकड़ा और बेड पे पटक दिया. उसकी शक़्ल रोने जैसी हो गयी थी. मैने फिर उसे पुचकारा . . मैं खड़ा हो गया उसके सामने और मेरा लंड टेंट बनाए हुए था पॅंट मे. मैने … Read more

मजे – लूट लो जितने मिले भाग  3

प्रथम अध्याय  खाला को चोदा  सुबह पांच बजे मेरी आँख खुली तो नूरी खाला मुझसे से चिपट कर सो रही थीं. वे मेरे सीने से लिपटी हुई सोते हुए बड़ी प्यारी और मासूम लग रही थीं, उनको देखते ही मेरा संयम टूट गया. सोते देख मुझे उन पर प्यार आ गया और धीरे से मैंने … Read more

मेरे निकाह मेरी कजिन के साथ भाग 09

सेक्सी- छोटी बीवी जूनी “एक मिनट !” कहकर  मैं वाशरूम जा कर  फ्रेश हो  कर आया   और पेण्ट  और अंडरवियर निकाल  कर लुंगी पहन ली।  और जीनत के पास गया तो वो सज संवर कर पड़ोस में जाने की तयारी कर रही थी । जीनत आपा  बहुत सुंदर लग रही थी।  उसे देख कर मेरा … Read more